google-site-verification: google9e57889f526bc210.html

Maldives Controversy : विवाद में कूदे Ratan Tata, और कहा की 140 करोड़ भारतियों ने ठोका सलाम

Maldives Controversy : विवाद में कूदे Ratan Tata, और कहा की 140 करोड़ भारतियों ने ठोका सलाम

Maldives Controversy : मौजूदा समय में लक्षदीप और मालदीप को लेकर काफी ज्यादा कंट्रोवर्सी छुड़ी हुई है देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लक्षदीप समूह पर जाकर खुद इंटरनेट पर अपनी तस्वीरों को जिस तरह से वायरल कराया मानो एक संदेश देना चाहते हो कि जितना भी पैसा लोग एंजॉय के लिए मालदीव में खर्च करते हैं अगर उसकी जगह लक्षदीप को वह अपनी जगह बनाए तो यकीनन वह पर्यटन का सारा पैसा भारत में ही रह सकता है और भारत के पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा मतलब देश को काफी ज्यादा फायदा होगा

Maldives Controversy में कूदे Ratan Tata

पीएम नरेंद्र मोदी की इस अपील ने करोड़ों भारतीयों को अपना मुरीद बना लिया है बॉलीवुड एक्टस से लेकर क्रिकेटर तक सभी ने पीएम मोदी के समर्थन में ट्वीट किए कुछ ने पोस्ट डाली बल्कि कुछ एक्टर्स ने तो यह तक कह दिया कि जल्द ही वह लक्षदीप जाने की तैयारी कर रहे हैं आपको बता दें इन सबके बीच लक्षदीप और मालदीव के बॉयकॉट ट्रेंड भी जमकर चल रहा है

Maldives Controversy
Maldives Controversy

लेकिन आपको बता दें कि भारत की जानी-मानी हस्ती खुद रतन टाटा जी ने भी देश के प्रधानमंत्री मोदी की बात रखी उन्होंने कहा कि देश के पीएम ने एक अच्छा संदेश दिया है देश की अर्थव्यवस्था को उठाने के लिए एक बेहतरीन विकल्प है लोग लाखों रुपए मालदीव में जाकर खर्चा करते हैं

इससे बेहतर है कि लक्षद्वीप का चयन करें अपने देश की चीजों पर जितना ज्यादा ध्यान लगाया जाएगा देश की अर्थव्यवस्था को फायदा मिलेगा और आम जनता को भी पर्यटन में बढ़ावा होगा तो इससे देश की आर्थिक स्थिति में इजाफा भी देखने को मिलेगा पीएम के बात से वह पूरी तरह से सहमत हैं जिस तरह से देश के बड़ी सेलिब्रिटीज ने पीएम का समर्थन या वह भी लोगों से यह अपील करना चाहते हैं कि लक्षदीप को ही बेहतर चुने और बल्कि लक्षदीप ही क्या हर उस चीज को जो भारत की बनी हुई है इस तरह से रतन टाटा जी ने अपील करी है

लक्षद्वीप को रतन टाटा देंगे खास तोहफा, दो ताज-ब्रांडेड रिसॉर्ट खोलेंगे

भारत के जाने-माने उद्योगपति रतन टाटा ने लक्षद्वीप को एक खास तोहफा देने का ऐलान किया है। टाटा समूह की इंडियन होटल्स कंपनी लक्षद्वीप में दो ताज-ब्रांडेड रिसॉर्ट खोलेगी। ये रिसॉर्ट सुहेली और कदमत द्वीपों पर बनेंगे।

Maldives Controversy
Maldives Controversy

टाटा समूह का यह ऐलान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लक्षद्वीप यात्रा के बाद आया है। प्रधानमंत्री मोदी ने अपनी यात्रा के दौरान लक्षद्वीप को पर्यटन के लिए एक प्रमुख केंद्र बनाने की बात कही थी।

टाटा समूह की इंडियन होटल्स कंपनी के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक अनिल कांत ने कहा कि हम लक्षद्वीप को एक प्रमुख पर्यटन स्थल बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। हमारे दो नए ताज-ब्रांडेड रिसॉर्ट लक्षद्वीप के प्राकृतिक सौंदर्य और समृद्ध संस्कृति को प्रदर्शित करेंगे।

इन रिसॉर्टों का निर्माण 2026 तक पूरा होने की उम्मीद है। इन रिसॉर्टों में कुल 1,000 कमरे होंगे। इनमें से 500 कमरे सुहेली द्वीप पर और 500 कमरे कदमत द्वीप पर होंगे।

इन रिसॉर्टों में आधुनिक सुविधाओं के साथ-साथ स्विमिंग पूल, स्पा, रेस्तरां और बार भी होंगे। इन रिसॉर्टों के खुलने से लक्षद्वीप में पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा और स्थानीय लोगों को रोजगार के नए अवसर मिलेंगे।

टाटा समूह का यह ऐलान लक्षद्वीप के लिए एक बड़ी उपलब्धि है। इससे लक्षद्वीप को एक प्रमुख पर्यटन स्थल बनने की राह में तेजी मिलेगी।

टाटा के इस ऐलान के पीछे की वजह

टाटा के इस ऐलान के पीछे कई वजहें हैं। एक वजह यह है कि टाटा हमेशा से सामाजिक उद्देश्यों के लिए प्रतिबद्ध रहे हैं। उन्होंने कई बार अपने सामाजिक उद्देश्यों के लिए निवेश किया है। लक्षद्वीप में रिसॉर्ट बनाने का उनका मकसद भी इसी तरह का है। वे लक्षद्वीप की सुंदरता और संस्कृति को दुनियाभर के लोगों तक पहुंचाना चाहते हैं।

Maldives Controversy
Maldives Controversy

दूसरी वजह यह है कि टाटा की कंपनी टाटा समूह भारत की सबसे बड़ी कंपनियों में से एक है। टाटा समूह के पास होटल, रियल एस्टेट और पर्यटन जैसे कई क्षेत्रों में अनुभव है। इसलिए, टाटा को विश्वास है कि वे लक्षद्वीप में सफल रिसॉर्ट बना सकते हैं।

टाटा के इस ऐलान के प्रभाव

टाटा के इस ऐलान का लक्षद्वीप के लोगों पर सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। यह रिसॉर्ट लक्षद्वीप की अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने में मदद करेंगे और पर्यटन को बढ़ावा देंगे। इससे लक्षद्वीप के लोगों को रोजगार के अवसर भी मिलेंगे।

Maldives Controversy
Maldives Controversy

टाटा के इस ऐलान का भारत की अर्थव्यवस्था पर भी सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। यह रिसॉर्ट भारत के पर्यटन उद्योग को बढ़ावा देने में मदद करेंगे। इससे भारत को विदेशी मुद्रा की आमद भी बढ़ेगी।

कुल मिलाकर, टाटा के इस ऐलान का लक्षद्वीप और भारत दोनों के लिए सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। यह एक ऐतिहासिक ऐलान है जो लक्षद्वीप के विकास में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

यह भी पढ़े:

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *