google-site-verification: google9e57889f526bc210.html

मां की तरह Isha Ambani ने भी IVF से दिया था जुड़वां बच्‍चों को जन्‍म

मां की तरह Isha Ambani ने भी IVF से दिया था जुड़वां बच्‍चों को जन्‍म

Isha Ambani : ईशा अंबानी ने हाल ही में एक इंटरव् यू में बताया कि उनके जुड़वा बच् चे आईवीएफ से पैदा हुए हैं। ईशा ने कहा कि वह आईवीएफ को नॉर्मलाइज करने के लिए अपनी पर्सनल लाइफ की बात बताना चाहती हैं।

“मैं उम्मीद करती हूं कि लोग आईवीएफ के बारे में खुलकर बात करेंगे और इसे टैबू नहीं बनाएंगे।” किसी को भी अकेला या शर्मिंदा महसूस नहीं होना चाहिए। यह एक कठिन प्रक्रिया है और आप शारीरिक रूप से थक जाते हैं।

ईशा की बातों से साफ पता चलता है कि वह भी मानती हैं कि आईवीएफ बेबीज के बारे में लोगों की कुछ अलग धारणा है. आज भी कई लोग आईवीएफ बेबीज को अलग तरह से देखते हैं। टीवी अभिनेत्री देबीना बनर्जी की बड़ी बेटी आईवीएफ से हुई है, और उन्होंने कहा कि लोग आईवीएफ बच्चों को गलत तरीके से देखते हैं।

Isha Ambani
Isha Ambani

कैसे करना चाहिए डील?

फर्टिलिटी एकेडमी ने कहा कि आपको रात को जल्दी सो जाना चाहिए। इससे आपको आराम मिलता है। सोते समय टीवी या स्क्रीन से दूर रहें। इससे आपकी नींद खराब हो सकती है और आपको अच्छी तरह से सोने में भी परेशानी हो सकती है।

थका देता है आईवीएफ ट्रीटमेंट

जैसा कि ईशा ने बताया, आईवीएफ शरीर को बहुत थका देता है। तो आईवीएफ क्या है और इसके दौरान थकान क्यों होती है?

लैब के अंदर अंडाणु और शुक्राणु को फर्टिलाइज करके वापस यूट्रस के अंदर इंप् लांट किया जाता है, इसे इन विट्रो फर्टिलाइजेशन कहा जाता है।

Isha Ambani
Isha Ambani

आईवीएफ का साइड इफेक्‍ट है थकान

फर्टिलिटी सेंटर ऑफ सैन एंटोनियो का कहना है कि कई महिलाओं को आईवीएफ प्रक्रिया के विभिन्न चरणों में बहुत थकान का अनुभव होता है, जो एक आम दुष्प्रभाव है।

यह थकान को बढ़ावा देने वाली फर्टिलिटी दवाओं की वजह से हो सकता है, या जब शरीर गर्भाशय में भ्रूण इंप् लांटेशन पर प्रतिक्रिया देता है। आईवीएफ के दौरान कई महिलाएं थक जाती हैं, और यह स्वाभाविक है।

Isha Ambani
Isha Ambani

आईवीएफ में क्‍यों होती है थकान

शरीर में प्रोजेस्ट्रोन की वृद्धि का मुख्य कारण आईवीएफ प्रक्रिया के दौरान थकान है। प्रोजेस्ट्रोन का स्तर नैचुरल गर्भधारण में बढ़ता है, जो स्वस्थ भ्रूण को सुरक्षित रखता है और उसे सहारा देता है। फीटल इंप् लांटेशन के एक चरण में फर्टिलिटी दवाओं का उपयोग किया जाता है ताकि भ्रूण गर्भाशय की परत से जुड़ सके।

​कब दूर होती है थकान

महिलाओं को आईवीएफ प्रक्रिया के कारण थकान से कई बार परेशानी हो सकती है, लेकिन यह कुछ समय तक रहता है। डॉक्टर आपको आराम से अपने दैनिक काम करने की सलाह देंगे।

यह भी पढ़े:

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *